Mechanical Interview Questions in Hindi

                Mechanical Interview Questions in Hindi – IC Engine

मैकेनिकल में इंजन बहुत अहम् हिस्सा हे। Mechanical interview questions in Hindi के इस आर्टिकल में इंजन से सम्बंधित Interview में पूछे जाने वाले सवालों को विस्तृत में वर्णन करने की कोशिश की हे। आशा हे ये आपके लिए मददगार होगा ।


Mechanical Interview Questions in Hindi

 

Basic mechanical Engineering Interview Questions

 

Question 1- I.c ( Internal combustion ) इंजन क्या है ?

Answer 1- I.c (Internal combustion) इंजन फ्यूल को जलाकर रासायनिक ऊर्जा को मैकेनिकल ऊर्जा में परिवर्तित करता है।

रासायनिक ऊर्जा तब Released होती है जब combustion चेम्बर में चिंगारी से ईंधन-हवा का मिश्रण प्रज्वलित होता है। इस प्रतिक्रिया में उत्पन्न होने वाली गैस तेजी फैलती हे और  पिस्टन को पावर स्टॉक के लिये मजबूर करती है।

 

Question 2- Diesel इंजन में फ्यूल ignite कैसे  होता हे ?

Answer 2 – जैसे पेट्रोल इंजन में स्पार्क प्लग से होता हे। वैसे डीजल इंजन में combustion चैम्बर में जो एयर आता हे वो कम्प्रेशन स्टॉक के कारण कंप्रेस्ड होता हे और इसके कारण हीट जनरेट होती हे। इस हीट के कारण से ही डीजल इंजन का फ्यूल या ने डीजल ignite होता हे।

 

Question 3 –  इंजिन Scavenging एयर क्या होता हे ?

Answer 3- स्केवेंजिंग या ने Exhaust (निकास) स्ट्रोक समाप्त होने से पहले सिलेंडर में ताजी हवा शुरू करके इंजन सिलेंडर से जली हुई गैसों को बाहर निकालने की प्रक्रिया है। जिसे स्केवेंजिंग एयर कहा जाता हे।

 

Question 4- I.C इंजिन में कम्प्रेसन रेशियो क्या होता हे ?

Answer 4- इंजिन में एयर का जो सिलिंडर हे उसमे बिफोर कम्प्रेसन स्टॉक और आफ्टर कम्प्रेसन स्टॉक का जो रेशियो हे उसे कम्प्रेसन रेशियो कहा जाता हे।

 

Basic Mechanical Engineering Interview Questions In Hindi

 

Question 5 – टू-स्ट्रोक इंजन क्या है ?

Answer 5 –

टू-स्ट्रोक इंजन एक आंतरिक दहन (Internal Combustion) इंजन है। जिसमें पिस्टन के दो स्ट्रोक एक थर्मोडायनामिक चक्र को पूरा करने के लिए आवश्यक होते हैं।

टू-स्ट्रोक इंजन को 1880 में DUGLAD CLERK द्वारा डिज़ाइन किया गया है। टू-स्ट्रोक पिस्टन के दौरान विस्तार(Expansion) और निकास (Exhaust) होता है।

 

Question 6- पेट्रोल इंजिन में कम्प्रेसन स्टॉक के समय में प्रेशर और टेम्प्रेचर कितना होता हे ?

Answer 6- पेट्रोल इंजिन में कम्प्रेसन स्टॉक के समय में प्रेशर होता हे 6 to 12 Pas और टेम्प्रेचर 250 to 350’C होता हे।

 

Question 7 – फोर-स्ट्रोक इंजन क्या है?

Answer 7- फोर-स्ट्रोक इंजन एक आंतरिक दहन (Internal Combustion) इंजन है। जिसमें पिस्टन के चार अलग-अलग स्ट्रोक एक थर्मोडायनामिक चक्र को पूरा करने के लिए आवश्यक होते हैं।

फोर-स्ट्रोक इंजन एक आंतरिक दहन (Internal Combustion) इंजन है। जिसमें पिस्टन इंजन के क्रैंकशाफ्ट के दो अलग-अलग Revolution और एक थर्मोडायनामिक चक्र के दौरान चार अलग-अलग स्ट्रोक-इनटेक,कम्प्रेशन,पावर और एग्जॉस्ट को पूरा करता है।

 

Question 8- I.C इंजिन में इंटैक एयर का टेम्प्रेचर बढ़ जाये तो क्या होता हे ?

Answer 8- I.C इंजिन में इंटैक एयर का टेम्प्रेचर बढ़ जाता हे तो सीधा असर इंजिन की कार्यक्षमता पर होता हे। इंजिन की कार्यक्षमता कम हो जाती हे।

 

Mechanical Fitter interview Questions-Gear, Bearing

 

Question 9- फोर -स्ट्रोक I.C  इंजन में मुख्य step के नाम बताएं ?

Answer 9 I.C इंजन में मुख्य चार स्टेप हे।

1 -Intake Stroke- एयर और फ्यूल का मिश्रण जिसमे तैयार होता हे।

2 -Compression Stroke- फ्यूल वेपर और हवा compressed होते हे और प्रजवलित होते हे।

3 -Combustion stroke- ईंधन दहन होता है और पिस्टन को नीचे की ओर धकेला जाता है।

4 -Exhaust stroke- Exhaust बहार निकाल दिया जाता हे।

 

Question 10 – टू-स्ट्रोक इंजन और फोर-स्ट्रोक इंजन में से कौनसा आम तौर पर पसंद करते  है और क्यों?

Answer 10 –  टू-स्ट्रोक इंजन आमतौर पर पसंद किया जाता है। क्योंकि इसमें आउट पुट तो एक समान ही होता हे पर साइज में ये छोटे आकार होते हैं।

 

Question 11- आईसी इंजन में Lubrication के क्या फायदे हैं?

Answer 11-

Lubrication  इंजन के vibration को कम करता हे।

यह रोटेटिंग भाग को घिसने नहीं देता स्मूथ रखता हे।

रोटेटिंग वाले हिस्सों को साफ करता है।

यह पिस्टन गैस को टाइट बनाता है।

 

Question 12- I C इंजन द्वारा उपयोग किये जाने वाले  ईंधन का नाम?

Answer 12 – I C इंजन में पेट्रोलियम में पेट्रोल,पेट्रोलियम डीजल LPG (liquefied petroleum gas) नेचुरल गैस,जेट फ्यूल और रेसिडुअल फ्यूल का इस्तेमाल होता हे। इसके अतिरिक्त मेथनॉल,गैसोलीन,डीजल फ्यूल का भी उपयोग होता हे।

बायोफ्यूल और वेज फ्यूल की बात करे तो मुगफली आयल,बायोडीजल,डिमेथाइल,ईथर, बायोगैस, हाइड्रोजन जैसे फ्यूल का इस्तेमाल होता हे।

 

Question 13 – ज्यादा कार्यक्षमता किसकी हे ? डीजल या पेट्रोल इंजन ?

Answer 13 – डीजल इंजन,पेट्रोल और डीजल इंजन में बेहतर कार्यक्षमता डीजल इंजन की होती हे।

 

Mechanical Engineering Interview Questions

 

Question 14 – कार में LPG  का उपयोग करने के क्या फायदे और नुकसान हैं?

Answer 14 –

Advantages 

  • LPG का कम्पलीट combustion होता हे।
  • Fuel की बचत
  • सजातीय दहन -(Homogeneous combustion) होता हे

Disadvantages

  • कम्पलीट combustion के कारण ज्यादा गरमी उत्पन्न होती हे।
  • दूसरे फ्यूल की तुलना में LPG से  इंजन ज्यादा गर्म हो होता हे.
  • लंबी यात्रा के लिए ठीक नहीं हे।
  • LPG इंजन की जीवन क्षमता कम करता हे ।

 

Question 15 – डीजल इंजन में स्पार्क प्लग क्यों नहीं होता ?

Answer 15 – स्पार्क प्लग की सहायता के बिना डीजल को दहन करने के लिए Combust रेशियो काफी अच्छा हे। अधिकांश डीजल इंजन में एक glow प्लग होता हे। जिससे इंजन को चालू करने में मदद करने के लिए पर्याप्त गर्मी मिलती है।

पहले कुछ Revolution के साथ कम्प्रेसन से गर्मी उत्पन्न होती है। जो इंजन को चालू रखने के लिए पर्याप्त है। कुछ आधुनिक डीजल इंजनों में ग्लो प्लग की आवश्यकता नहीं होती।

 

Question 16 -पिस्टन रिंग की स्थिति क्या होती है?

Answer 16 –  टॉप रिंग 180 डिग्री पे होती हे,दूसरी रिंग और आयल रिंग फिक्स होती हे। पिस्टन रिंग पोजीशन नैक से लगभग 1 इंच की गैप में होती हे।

 

Types of Maintenance in Hindi

 

Question 17 -टू -स्ट्रोक इंजन कैसे काम करता है ?

Answer 17 – अधिकतर टू स्ट्रोक इंजन चैन सॉ और बोट मोटर का इस्तेमाल करते हे। टू -स्ट्रोक इंजन में कोई मूविंग वाल्व नहीं होता है। और स्पार्क प्लग हर बार पिस्टन को उसके साइकिल के टॉप पे टच करता हे।

सिलेंडर की निचले हिस्से में एक होल होता हे जो गैस और हवा देता है। जैसे ही पिस्टन ऊपर जाता है यह संकुचित होता है,स्पार्क प्लग ignite करता है, प्रज्वलित करता है। और सिलेंडर में एक और होल के माध्यम से Exhaust बाहर निकलता है।

टू-स्ट्रोक इंजन में गैस में आयल मिलाना पड़ता हे। आमतौर पर टू-स्ट्रोक इंजन अपने आकार के हिसाब से बहुत अधिक शक्ति पैदा करता है क्योंकि प्रति रोटेशन में कई दहन चक्र होते हैं। हालांकि,टू-स्ट्रोक इंजन अधिक गैसोलीन का उपयोग करता है और बहुत सारे आयल जलाता है। इसलिए, यह ज्यादा प्रदूषणकारी है।

 

Question 18 – इंजन में सुपरचार्जिंग का मतलब क्या होता हे ?

Answer 18 – सुपरचार्जिंग एक ऐसी पद्धति हे जो वातावरण की हवा से ज्यादा हवा का प्रेशर करके इंजन का पावर बढाता हे। आमतौर पे सुपरचार्जिंग एक बेल्ट से चलने वाला कम्प्रेसर होता हे।

 

Questions 19 – इंडस्ट्रीज में कौन से प्रकार के शाफ़्ट का उपयोग होता हे ? 

Answer 19- आमतौर पे इंडस्ट्रीज में चार प्रकार के शाफ़्ट का इस्तेमाल किया जाता हे।
मेईन शाफ़्ट
काउंटर शाफ़्ट
क्रैंक शाफ़्ट
स्प्लिनेड शाफ़्ट

 

Mechanical Technician Interview Questions

 

Question 20- कपलिंग किसे कहते हे ?

Answer 20- कोँपलिंग वो डिवाइस हे जो दो शाफ़्ट को जोड़ती हे,कनेक्ट करती हे। और इसकी बजह से शाफ़्ट की लम्बाई भी बढाती हे।

 

Question 21- फ्लैंज कपलिंग क्या है ?

Answer- ये बहुत सामान्य प्रकार की कपलिंग हे। जो दो फ्लैंज के माध्यम से शाफ़्ट जोड़ने का काम करती हे। दो कास्ट आयरन फ्लैंज को शाफ़्ट के एन्ड पे जोड़ा जाता हे। नट और बोल्ट के माध्यम से कनेक्ट किया जाता हे।

 

Questions 22- फ्लेक्सिबल कपलिंग क्या है ?                                                                   

Answer 22 – फ्लेक्सिबल कपलिंग दो शाफ़्ट को सॉफ्ट मटेरियल से बनी कपलिंग से जोड़ता हे। ये कपलिंग रबर, चमड़ा एवं केनवास में से बनाया जाता हे। इस प्रकार की कपलिंग Misalignment को एडजस्ट कटा हे। और वाइब्रेशन को नियत्रित करता हे। इस प्रकार की कपलिंग ज्यादातर इलेक्ट्रिक पंप में उपयोग की जाती हे।

 

Question- पुलि ब्लॉक क्या है ?

Answer – दो और तीन पुलि का समूह जो हैवी लोड के लिए रोप के साथ लिफ्ट में इस्तेमाल होते हे उसे पुलि ब्लॉक कहते हे। लोड को मूवेबल ब्लॉक के हुक में बांधा जाता है और effort रस्सी के अंत में लगाया जाता है जो कि स्थिर पुलि ब्लॉक के माध्यम से आता है।

 

5s क्या है ? कैसे इम्प्लीमेंट करे।

कम्प्रेसर के प्रकार एवं कार्य।

Spread the love

Leave a Comment