... ...
Wed. Mar 3rd, 2021

     Electrical In Hindi

                       

    मुझे यकीन है की में बता सकूंगा जो आप जानना चाहते हो। Basic Electrical In Hindi के इस आर्टिकल में इलेक्ट्रिकल से जुडी पूरी जानकारी उपलब्ध है।

    इसमें इलेक्ट्रिकल के Important lessons है। इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू में पूछे जाने वाले सवाल-जवाब है। बेसिक इलेक्ट्रिकल के पैरामीटर है। उसका यूनिट,फार्मूला एवं इलेक्ट्रिकल ड्राइंग के सिम्बोल है। और आमतौर पे इलेक्ट्रिकल में उपयोग होने उपकरण एवं टूल्स की बेसिक जानकारी है।

     

    Basic Electrical की ये जानकारी इलेक्ट्रिकल फील्ड के किसी व्यक्ति के लिए मददगार होगी। एक टेक्निशन से लेके इलेक्ट्रिकल मैनेजर तक यहाँ से जरुर कुछ पायेगा। मेरी कोशिश है की में किसीको निराश न करु। अतिरिक्त जानकारी के लिए कमेन्ट करे।

    Basic Electrical In Hindi

    Electrical Meaning In Hindi 

     

    इलेक्ट्रिकल को हिंदी में – विद्युत कहते है।

    इलेक्ट्रिसिटी को हिंदी में – बिजली कहते है।

    Electrical Energy को – विद्युतीय ऊर्जा कहते है।

     

     Electrical Parameter – इलेक्ट्रिकल के मुख्य पैरामीटर

     

     

    इलेक्ट्रिकल के पैरामीटर वोल्टेज, करंट, रेजिस्टेंस, पावर, फ़्रिक्वेन्सी, पावर फैक्टर विगेरे है। निचे के कोस्टक में पैरामीटर का नाम, संज्ञा, यूनिट एवं सूत्र दिया गया है।

    इसे याद रखे क्युकी, ये Basic Electrical Parameter पैरामीटर है। इनके बगैर हम आगे नहीं बढ़ सकते।

     

    Electricity-:  Conductor में बहने वाली अप्रत्यक्ष्य एनर्जी है। इस एनर्जी को हम देख नहीं सकते, सिर्फ महसूस कर सकते है।

     

    Voltage -: किसीभी कंडक्टर में बहने वाले विद्युत दबाव वो वोल्टेज कहा जाता है,इसे EMF और पोटेंशियल डिफरेंट भी कहा जाता है। इसका यूनिट वाल्ट है और उसे V से दर्शाया जाता है।

     

    Ampere -: एक कूलंब चार्ज किसी कंडक्टर के क्रॉस सेक्शन एरिया से एक सेकंड में क्रॉस होता है तो एक एम्पेयर होता है। इसमें करंट की दिशा इलेक्ट्रॉन की दिशा से विपरीत होती है। करंट का यूनिट एम्पेयर है उसे I (आई) से दर्शाया जाता है।

     

    Resistance -: प्रतिरोध जो विरोध करता है। किसी भी पदार्थ द्वारा विद्युत प्रवाह की रोकने की क्षमता को उसका प्रतिरोध कहते है। उसका यूनिट ओम है और उसे R से दर्शाया जाता है।

     

    Power Factor -: इलेक्ट्रिकल सर्किट में वास्तविक पावर और आभासी पावर के बिच में गुणोत्तर रहता है। उस गुणोत्तर को पावर फैक्टर कहते है। जिसे Cos θ से दर्शाया जाता है।

     

    Watt -: Watt ये विद्युत शक्ति का यूनिट है। कोई भी उपकरण एक जुल कार्य प्रति सेकंड करता है उसे 1 watt कार्य कहा जाता है।

     

    HP -: हॉर्स पावर, ये भी शक्ति का यूनिट है। 1 HP = 746 W

     

    KVA -: किलो वाल्ट एम्पेयर – जनरेटर, ट्रांसफार्मर की कैपेसिटी KVA में होती है। और हमारी डिमांड भी KVA में त्यय होती है।

     

    Electrical Parameter , Unit and Formula
                                                                                   

    Basic Electrical In Hindi

     

     

    Basic Electrical Engineering

     

    इलेक्ट्रिकल से जुडी हुई बहुत सारी पुस्तके उपलब्ब्ध है। जिसमे Electrical Theory का ज्ञान हमें मिलता है। जिसमे Basic Electrical और Basic Electrical Engineering की पुस्तके प्रचलित है।

    निचे के टेबल में Basic Electrical के lesson हिंदी में लिखे गए है। में खुद इलेक्ट्रिकल डिपार्टमेंट से जुड़ा हुआ हु। मेने यहाँ जो भी लिखा है ये मेरी पढ़ाई एवं अनुभव को आधार से लिखा है।

    यहाँ Electrical Theory और Electrical अनुभव का मिश्रण जरूर देखने को मिलेगा।

     

    Basic Electrical Theory

     

     

    विस्तार से समजने के लिए निचे दिये गए लिंक पे क्लिक करे।

     

      Sr. No.              Basic Electrical Theory Lesson
        1      Electrical Carrier – इलेक्ट्रिकल विषय क्यू पसंद करना चाहिए  ? 
        2     What is Electricity ? – इलेक्ट्रिसिटी क्या है ?
        3     What is Voltage ?- वोल्टेज क्या है ?
        4     What is Resistance ? प्रतिरोध क्या है ?
        5     What is Ampere ? करंट किसे कहते है ?
        6     Ohm’s Law – ओम का नियम कैसे काम करता है ?
        7     AC थ्री फेज मोटर के प्रकार एवं कार्य सिद्धांत
        8     AC सिंगल फेज मोटर के प्रकार एवं कार्य सिद्धांत
        9     DC मोटर के प्रकार एवं कार्य सिद्धांत
        10     DOL Starter – डायरेक्ट ऑन लाइन स्टार्टर का पूरा विवरण
        11     Star Delta Starter – स्टार डेल्टा स्टार्टर का पूरा विवरण
        12     Types Of Maintenance – मेंटेनन्स के प्रकार
        13     Types Of Transformer – ट्रांसफार्मर के प्रकार
        14     Transformer – ट्रांसफार्मर का कार्य सिद्धांत एवं भाग
        15     Uninterrupted Power Supply – UPS का कार्य।
        16     PLC – प्रोग्रामेबल लॉजिक कन्ट्रोल का कार्य
        17     MCB – मिनिएचर सर्किट ब्रेकर क्या है ? कैसे काम करता है ?
        18     MPCB – मोटर पावर कन्ट्रोल ब्रेकर क्या है ? कैसे काम करता है ?
        19     ACB – एयर सर्किट ब्रेकर का कार्य एवं मेंटेनन्स
        20     VCB – वैक्यूम सर्किट ब्रेकर का कार्य एवं मेंटेनन्स
        21     SF6 – सल्फर हेकजा क्लोराइड ब्रेकर का कार्य एवं मेंटेनन्स
        22     Types of Battery – बैटरी के प्रकार एवं कार्य पद्धति
        23     Save Electricity – बिजली बचाने के उत्तम उपाय
        24     Capacitor – कपैसिटर के प्रकार एवं कार्य सिद्धांत
        25     CT – करंट ट्रांसफार्मर का प्रकार एवं उपयोग
        26
         Electrical Safety – इलेक्ट्रिकल में सेफ्टी कैसे रखे 
        27     LED – लाइट एमिटिंग डायोड क्या है ?  कैसे काम करता है ?
        28     PF – पावर फैक्टर क्या है ?  इलेक्ट्रिक सर्किट में कैसे काम करता है ?
        29     PM – प्रिवेंटिव मेंटेनन्स क्या है ? कैसे किया जाता है ?
        30     Solar Power कैसे सेलेक्ट करे ? सोलार पावर से कितने पैसे बचा सकते है ?
        31     VFD – वेरिएबल फ़्रिक्वेन्सी ड्राइव क्या है ? कैसे काम करता है ?
        32     SMPS क्या है ? कैसे काम करता है ?
        33     ITI क्या है ? कैसे जॉब मिल सकती है ?
        34     AC – Air Conditioner कोनसा लेना चाहिए ?
        35     RCCB क्या है ? कैसे काम करता है ?
        36     Earthing – अर्थिंग के प्रकार – कोनसा अर्थिंग करना चाहिए ?
        37     Diode – डायोड के प्रकार एवं कार्य पद्धति
        38     MCC Panel, IMCC Panel-का कार्य एवं मेंटेनन्स 
        39     इंटरव्यू में जाने से पहले एक बार जरुर पढ़े – Tips
        40     इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू के सवाल-जवाब (ट्रांसफार्मर)
        41     इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू के सवाल-जवाब (मोटर)
        42     इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू के सवाल-जवाब (जनरेटर)
        43     इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू के सवाल-जवाब (पावर फैक्टर)
        44     इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू के सवाल-जवाब (प्रोटेक्टिव रिले)
        45     इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू के सवाल-जवाब (मोटर स्टार्टर)
        46     इलेक्ट्रिकल इंटरव्यू के सवाल-जवाब (सर्किट ब्रेकर)
        47     Different Between Voltage and Current – वोल्टेज और करंट 
        48     इंस्ट्रूमेंट इंटरव्यू के सवाल – जवाब
        49     मैकेनिकल इंटरव्यू सवाल – जवाब 
        50     हरएक इंटरव्यू में पूछे जाने वाले कॉमन सवाल-जवाब

     

    इलेक्ट्रिकल  के मुख्य उपकरण 

     

    Transformer -: ट्रांसफार्मर इलेक्ट्रिकल का महत्व का अंग है। ट्रांसफार्मर का उपयोग वोल्टेज को स्टेप उप और स्टेप डाउन करने के लिए होता है ।

    Breaker-:  इलेक्ट्रिकल सर्किट को चालू बंद करने में इस्तेमाल होता है। इंडस्ट्रीज में इसे सर्किट ब्रेकर कहते है। हमारे घरो में उपयोग होने वाली स्विच भी एक सर्किट ब्रेकर ही है।

    Generator-:  जनरेटर इलेक्ट्रीसिटी को जनरेट करता है। वैसे ये मैकेनिकल एनर्जी को इलेक्ट्रिकल एनर्जी में कन्वर्ट करता है।

    Motor – :  मोटर इलेक्ट्रिकल का सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला उपकरण है। ये इलेक्ट्रिसिटी से घूमता है और इलेक्ट्रिकल एनर्जी को मिचानिकल एनर्जी में कन्वर्ट करता है ।

    Contactor -: इलेक्ट्रिकल सर्किट में पावर सप्लाई को कण्ट्रोल करने के लिए उपयोग होता है। कण्ट्रोल सप्लाई में इंटरलॉकिंग के लिए इस्तेमाल होता है।

    Cable -:  इलेक्ट्रिसिटी का वहन करने के लिए उपयोग किया जाता है। अलग-अलग साइज में उपलब्ध होते है। जिसको लोड के मुताबिक उपयोग किया जाता है

     

    Basic Electrical Tools 

     

    Line Tester -: हरएक इलेक्ट्रीशियन के पास ये होना चाहिए। LT लाइन में सप्लाई चेक करने के लिए इस्तेमाल होता है। इसकी कैपेसिटी 500 वाल्ट तक ही होती है है।

     

    Combination Player -: प्लायर केबल को पकड़ने, काटने एवं छिलने के लिए उपयोग किया जाता है। ये अलग-अलग प्रकार में उपलब्ध है।

    Screw Driver -: टेस्टर, प्लायर और स्क्रू ड्राइवर ये तीन सबसे ज्यादा इस्तेमाल होते है। स्क्रू ड्राइवर अलग-अलग साइज एवं अलग अलग टाइप में उपलब्ध होते है। स्क्रू ड्राइवर का पूरा सेट भी मिलता है।

    Clip On Meter -: क्लिप ऑन मीटर ये एक प्रकार का करंट ट्रांसफार्मर ही है। इस मीटर से हम किसी भी सर्किट का करंट (एम्पेयर) माप सकते है।

    Multimeter -: इलेक्ट्रिकल के पैरामीटर की वैल्यू चेक करने का मीटर है। इस मीटर से वोल्टेज,मि और रेजिस्टेंस का मापने का सिलेक्शन होता है। इसे अलग -अलग रेंज में माप सकते है।

    Spanner -: स्पेनर अलग अलग प्रकार के मिलते है। जिसमे डी टाइप, रिंग टाइप, रैचेट, एडजेक्टेबल का इस्तेमाल होता है। नट बोल्ट ओपन और टाइट करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है।

    Crimping Tools -: इलेक्ट्रिकल में ये महत्व का उपकरण है। किसी भी केबल को कनेक्ट करने से पहले लग्स को क्रिम्पिंग किया जाता है। केबल में लग्स क्रीपिंग करने वाले टूल्स को क्रीपिंग टूल्स कहते है। ये अलग-अलग साइज में मिलते है।

    Mager -: किसी भी वाइंडिंग और इलेक्ट्रिकल सर्किट का इंसुलेशन रेजिस्टेंस (IR Value)चेक करने के लिए मेगर का उपयोग किया जाता है।

    Earth Tester -: Earth टेस्टर का इस्तेमाल अर्थिंग पिट का रेजिस्टेंस चेक करने के लिए होता है।

     

                                 

        Electrical Abbreviation Full Form 

     

    किसी भी क्षेत्र में शार्ट नेम का इस्तेमाल होता है। ठीक वैसे ही इलेक्ट्रिकल में भी शार्ट नेम का यूज़ होता है। पर शार्ट नेम का उपयोग करने से पहले उसका पूरा नाम पता होना जरुरी है।

    Electrical panel, Electrical Drawing, Electrical Symbol सबमे शार्ट फॉर्म का इस्तेमाल होता है। यदि हमारा विषय इलेक्ट्रिकल से जुड़ा है तो हमें सभी शार्ट फॉर्म के फुल फॉर्म मालूम होने चाहिए।

    निचे के टेबल में लगभग आमतौर पे उपयोग में होने वाले शार्ट फॉर्म का लिस्ट है। उसके साथ उसका फुल फॉर्म दिया गया है। उसे जरुर याद रखे।

     

    Electrical Full Form

     

    Sr. No.Short FormFull Form
    1MCBMiniature Circuit Breaker.
    2MCCBMolded Case Circuit Breaker.
    3RCCBResidual Current Circuit Breaker.
    4RCBOResidual Current Circuit Breaker with Overload Protection.
    5ELCBEarth Leakage Circuit Breaker.
    6MPCBMotor Protection Circuit Breaker
    7MCCMotor Control Center
    8PMCCPower Motor Control Center
    9MLDBMain Lighting Distribution Board
    10MPDBMain Power Distribution Board
    11EMLDBEmergency Lighting Distribution Board
    12LDBLighting Distribution Board
    13PDBPower Distribution Board
    14OCBOil Circuit Breaker.
    15VCBVacuum Circuit Breaker.
    16ACBAir Circuit Breaker
    17SF6Sulphur Hexafluoride
    18UPS Uninterrupted Power Supply
    19SP Single Pole
    20DPDouble Pole
    21TPTriple Pole
    22ACAlternating Current
    23DCDirect Current
    24LA Lighting  Arrestor
    25DODraw Out Fuse
    26KA Kilo Ampere
    27LV Law Voltage
    28HVHigh Voltage
    29KVKilo Volt
    30MVMega Volt
    31HPHorse Power
    32HTHigh Tension
    33LTLow Tension
    34KVAKilo Volt Ampere
    35
    NVCNo Volt Coil
    36OLROver Load Relay
    37PLCProgrammable Logic Control
    38DCSDistributed Control System
    39JBJunction Box
    40TBTerminal Block
    41LCSLocal Control Station
    42CTCurrent Transformer
    43PTPotential Transformer
    44XLPE Cross Linked Polyethylene
    45PVCPolyvinyl Chloride
    46OLTCOn Load Tap Changer
    47NONormally Open
    48NCNormally Close
    49RTDResistance Temperature Detector
    50RPMRevolution Per Minute
    51SLDSingle Line Diagram
    52AVRAutomatic Voltage Regulator
    53DOLDirect On Line Starter
    54SDStar Delta Starter
    55EHVExtra High Voltage
    56ELVExtra Law Voltage
    57HVACHeating Ventilation and Air Conditioning
    58IRInsulation Resistance Value
    59PIPolarization Index
    60IOInput or Output Signal
    61MMFMagneto Motive Force
    62EMFElectro Motive Forces
    63DEDriving End of Shaft
    64NDENon Driving End Of Shaft
    65RMSRoot Mean Square
    66RMURing Main Unit
    67SMPSSwitch Main Power Supply
    68DIDigital Input
    69DODigital Output
    70AIAnalog Input
    71AOAnalog Output
    72PIDProportional Integral and  Derivative
    73OTIOil Temperature Indicator
    74WTIWinding Temperature Indicator
    75MOGMagnetic Oil Gauge

     

    Basic Electrical Engineering Symbol

     

    इलेक्ट्रिकल में ड्राइंग बहुत अहम् माना जाता है। किसी भी सर्किट में फाल्ट होता है तो ड्राइंग से  सुलझा सकते है। इसीलिए, कोई भी मशीन आता है तो उसके साथ ड्राइंग जरूर होता है। कोई भी नयी पैनल हो तो वो भी प्रॉपर ड्राइंग से ही बनाया जाता है।

    Electrical ड्राइंग जब बनाते है, तो उसमे इलेक्ट्रिकल उपकरणों का उल्लेख किया जाता है। उस उपकरणों को एक त्यय सिम्बोल से दर्शाया जाता है। यदि इलेक्ट्रिकल के सिम्बोल हमें मालूम है, तभी हम ड्राइंग समाज सकते है।

    निचे के टेबल में इलेक्ट्रिकल के कुछ सिम्बोल है। ये सिम्बोल को यद् कर लेना चाहिए।

     

    Electrical Symbol

    Basic Electrical In Hindi

     

     

    Basic Electrical In Hindi के इस आर्टिकल में इलेक्ट्रिकल की पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। आगे के समय में भी कुछ और लेसन ऐड होने वाले है। में आशा करता हु ये आपके लिए हेल्पफुल हो। इलेक्ट्रिकल से जुड़ा कोई सवाल हो ता जरूर कमेंट में लिखिए।

     

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *